Saturday, January 17, 2015

bhajan /भजन

                            तेरा पल-पल बीता जाये ,मुख से जप लो नमः शिवाय
                                   ओम नमः शिवाय -ओम नमः शिवाय  
१. शिव-शिव तुम ह्रदय से बीजो,मन मंदिर का पर्दा खोलो-२
                           तेरा अवसर खाली  न जाये ,मुख से जप लो नमः शिवाय 
२. ये दुनिया पंक्षी का मेला समझो उड़ जाना है अकेला -२
                           तेरा तन-मन साथ न जाये,मुख  से जप लो नमः शिवाय
३. मुसाफिरी जब पूरी होगी,चलने की मजबूरी होगी -२    
                          पिंजरे प्राण रह जाये ,मुख से जप लो नमः शिवाय
४. शिव पूजन मस्त बने जा भक्ति रस पान किये जा -२ 
                         दर्शन विश्वनाथ के पय ,मुख से जप लो नमः शिवाय

No comments:

Post a Comment