Saturday, June 25, 2016

भजन




गोविन्द गा ले गोपाल गा, जीवन की नैया किनारे लगा ले --
१. दुनिया के साथी सबसे निराले, 
                      बाहर से उजले अंदर से काले, गोविन्द ------
२. भाई सम्हाले, न बेटा सम्हाले, 
                    एक दिन करेंगे ये यम के हवाले, गोविन्द 
३. संग चलेंगे न महल अटारी , 
                    मरने के पीछे निकाले अकेले, गोविन्द ----
४. पागल अभागा गफ़लत न जाने,
                   एक दिन पड़ेगा अग्नि के पाले, गोविन्द -------

No comments:

Post a Comment